दोस्तों! सोचा इस बार इस बार आपको शहर के कुछ नए और मीठे जायकों से रू-ब-रू करवाया जाये, तो इस रविवार निकल पड़े बाबा दीप और बाबा आनंद (‘बाबा’ इसलिए की दोनों दाढ़ी वाले हैं) के साथ ‘फ़ूड-हंटिंग’ पर । छोटे सराफा में घुसते है एक सीधे हाथ की तरह ‘पार्वती नंदन नमकीन & स्वीट्स’ की चकाचक – जगमग दुकान देख कर लगा की कोई गजक की दूकान भर है –

1-parvatinanadan

यहाँ हमें मिले बड़े ही मृदुभाषी राठौर साहब ! एक मीठी मुस्कान के साथ अपनी दुकान की स्पेशियलिटी बताने के साथ उसे ‘चखाने’ में भी कतई गुरेज नहीं किया राठौरा साहब ने ! एक बड़ी सुंदर सी दिखने और स्वाद वाली ‘गजक-बर्फी’ एक नयी चीज लगी, हालांकि उनके शुद्ध घी के दावे पर हमारे बाबा आनंद को थोड़ा संशय था, पर.…। इनकी दूकान पर प्राप्य सभी खाद्य पदार्थ ढंके मिले, यह देख कर बड़ा ही सुखद आश्चर्य हुआ

 यहाँ से निकल कर हम सीधे पहुंचे आगर रोड, प्रियदर्शिनी तिराहे पर ‘लाला – श्री’ | ‘छोटे लाला श्री’  के चेहरे की मुस्कान देख कर आप भी मन प्रसन्न हो जायेगा

यहाँ भी २ नयी मिठाईयां का ‘शिकार’ किया गया, एक तो ‘पनीर – जलेबी’ और दूसरी ‘राबड़ी-रसगुल्ला’

और फिर इस शानदार मीठी दावत का अंत हुआ ‘लाल श्री’ के गरमा गरम औटाया हुए मलाई वाले गुलाबी दूध के साथ

16-Milk-1