Posts in category शहर


इतिहासताज़ा चिठ्ठेमुखपृष्ठशहर

संस्कृतिमवन्ती अवन्तिका : डॉ. पवन व्यास

हमारी उज्जयिनी प्राचीन काल से ही शिक्षा का महत्त्वपूर्ण केन्द्र रही है । मुझे ऐसा लगता है कि ’गुरुभूमि’ के रूप में संसार में इसकी …

Read more 0 Comments
ताज़ा चिठ्ठेनौ रत्नमुखपृष्ठविशेषसाहित्य

वराहमिहिर : डाॅ. मुरलीधर चाँदनीवाला

वराहमिहिर तुम पहले व्यक्ति हो वराहमिहिर! जो अवन्तिका से निकले तो फैल गये अखंड भारत में, उज्जयिनी में नहीं होकर भी तुम उज्जयिनी में रहते …

Read more 0 Comments
ताज़ा चिठ्ठेनौ रत्नमुखपृष्ठविशेषसाहित्य

भर्तृहरि : डाॅ.मुरलीधर चाँदनीवाला

भर्तृहरि —— भर्तृहरि लौट-लौट आते हैं अवन्ती में, खड़े होते हैं कल्पलता के नीचे कभी मौन,कभी मुखर। वैराग्य के जंगल में महाकाल-वन नहीं होता, शिप्रा …

Read more 0 Comments
जैव विविधताताज़ा चिठ्ठेमुखपृष्ठविशेष

उज्जैन : जैव विविधता : नौलखी इको टूरिज्म पार्क

उज्जैन की जैव विविधता को दर्शाता  वन विभाग, उज्जैन का एक अद्भुत प्रयास वन विभाग , उज्जैन द्वारा १० वर्षों के अथक प्रयासों से विकसित …

Read more 0 Comments
जैव विविधताताज़ा चिठ्ठेमुखपृष्ठविशेष

उज्जैन के प्रवासी पक्षी

Bar Headed Geese & Rudy Shelduck (Flying) – Across Himalaya All the way to Ujjain.   ‘मेघदूत’ में महाकवि कालिदास ने उज्जयिनी का सुंदर वर्णन …

Read more 0 Comments
ताज़ा चिठ्ठेमुखपृष्ठशहर की हस्तियाँसंस्कृत कवितायेँ

उज्जयिनी जयते : आचार्य श्रीनिवास रथ

— महाकालपूजास्वरललिता कालिदासकविताकोमलता भुवनमलंकुरुते। उज्जयिनी जयते।। — सान्दीपनिसन्दीपितसंस्कृति-शिक्षापरम्परा प्रतिपलमञ्जुलदीपशिखोज्ज्वलमंगलनाथधरा। देवलोकरुचिरा गगनतले ललिते उज्जयिनी जयते।। — उदयनवीणावादनपुलकितवदना संकुचिता वासवदत्ता चकिताऽऽकुलिता सुप्तेवालिखिता। प्रणयरसाकुलिता मनसा मन्त्रयते। उज्जयिनी जयते।। …

Read more 0 Comments
इतिहासमुखपृष्ठविशेषशहर

उज्जयिनी : लगभग पन्द्रह सौ साल पहले

अस्ति सकलत्रिभुवनललामभूता,प्रसवभूमिरिव कृतयुगस्यात्मनिवासोचिता भगवता महाकालाभिधानेन भुवनत्रयसर्गस्थितिसंहारकारिणाप्रमथनाथेनेववापरेव••••विजितामरलोकद्युतिरवन्तीषूज्जयिनी नाम नगरी। उपन्यासकार बाणभट्ट ,620 ईस्वी की कृति कादम्बरी में उल्लेखित उज्जयिनीवर्णन पर आधृत   — तीनों लोकों में …

Read more 0 Comments
इतिहासमुखपृष्ठविशेष

मोक्षदायनी क्षिप्रा

क्षिप्रा नदी का काफी पौराणिक महत्‍व है और यह मध्य प्रदेश की धार्मिक और ऐतिहासिक नगरी उज्जैन से होकर गुजरती है। उज्जैन की क्षिप्रा नदी, …

Read more 0 Comments
इतिहासताज़ा चिठ्ठेमंदिरमहाकालेश्वरशहर

श्री महाकालेश्वर मंदिर

आकाशे तारकं लिंगं पाताले हाटकेश्वरम् । भूलोके च महाकालो लिंड्गत्रय नमोस्तु ते ॥ अर्थात आकाश में तारक लिंग, पाताल में हाटकेश्वर लिंग तथा पृथ्वी पर महाकालेश्वर …

Read more 0 Comments
इतिहासदर्शनीय स्थलमुखपृष्ठशहर

वीर दुर्गादास की छतरी | Veer Durgadas Ki Chhatri

वीर दुर्गादास की छतरी, मंदिरों उज्जैन के शहर में स्थित एक विशिष्ट स्मारक है। यह स्मारक छतरी के रूप में वीर दुर्गादास की याद में बनवाया …

Read more 0 Comments