उज्जैन की जैव विविधता को दर्शाता  वन विभाग, उज्जैन का एक अद्भुत प्रयास

वन विभाग , उज्जैन द्वारा १० वर्षों के अथक प्रयासों से विकसित नौलखी इको टूरिज्म पार्क (मक्सी रोड – सांची दुग्ध संघ के निकट) एक पूर्णतः मानव – विकसित जैव विविधता जंगल का प्रतिरूप है।

मुझे प्रसन्नता है की नौलखी इको टूरिज्म पार्क मे पाए जाने वाले पक्षियों की जानकारी एकत्रित करने के लिए वन विभाग ने ये अवसर मुझे प्रदान किया | इसी नौलखी इको टूरिज्म पार्क की एक झलक आपके सामने प्रस्तुत है |

यहाँ पर इस से पहले घास का खुला मैदान हुआ करता था, अब यहाँ अत्यंत सुन्दर जंगल विकसित किया जा चुका है | नौलखी का जैव विविधता दर्शाता ये मानव निर्मित जंगल 250 हेक्टेयर में फैला हुआ है , इसमे से 55 हेक्टेयर के क्षेत्र कों नौलखी इको टूरिज्म पार्क के रूप में विकसित किया गया है । इसमे घूमने के लिए 3.5 किमी का रास्ता भी बनाया गया है जो पार्क में मौजूद 2 तालाबों के बीच से हो कर गुजरता है । यह रास्ता झाड़ीदार पौधों और घने पेड़ो से होता हुआ तालाब के पास पहुँचता है | जहाँ सुन्दर वृक्षों की छाव मैं बैठकर आप कई पक्षियों को देख सकते है | यहाँ पर एक watchtower लगाने का भी कार्य किया जा रहा है, जिस पर बैठ कर आप ऊंचाई से इस जंगल की खूबसूरती को देख सकेंगे |

उज्जैन की जलवायु और प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले पेड़ पौधों के अलावा कई और पौधे और पेड़ भी लगाए गए है । यहां 80 से भी अधिक प्रजाति के पेड़ पौधे देखे जा सकते है , इसमे बबूल, खाखरा, पीपल, नीम, मिसवाक, आवंला, आम, इमली, बरगद, यूकेलिप्टस इत्यादि प्रमुख है । उज्जैन के वरिष्ठ पक्षी एवं वन्यजीव संरक्षक और पर्यावरण मित्र श्री अनुराग छजलानी जी द्वारा जैव विविधता दर्शाने वाले कई अन्य प्रकार के महत्वपूर्ण पेड़ पौधे लगाने तथा पक्षियों लिए उपयुक्त रहवास की व्यवस्था किये जाने का सुझाव दिया गया है |

यह इको टूरिज्म पार्क अभी आम नागरिकों के मनोरंजन के लिए खोला गया है, परंतु नौलखी की जैव विविधता को देखने और डॉक्यूमेंट करने का सौभाग्य मुझे मिला, इस आलेख में मेरे द्वारा एकत्रित सभी जानकारी वन विभाग, उज्जैन विभाग को भी दी गई है जिसमें 35 से अधिक प्रमुख प्रजाति के पक्षियों का विवरण है । पक्षियों के अलावा यहां नील गाय के झुंड , सियार, जंगली खरगोश  भी देखे जा सकते है ।

उज्जैन के डीएफओ श्री पी.एन मिश्रा ने बताया कि उज्जैन के स्कूली बच्चों को जैव विविधता से परिचय करने हेतू वन विभाग, उज्जैन द्वारा 15 दिसंबर 2017 से 15 जनवरी 2018 तक “अनुभूति” नामक एक कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है इसमें 225 छात्रों को पर्यावरण और पक्षियों से परिचय करवाया जाएगा

नौलखी इको टूरिज्म पार्क में अभी तक निम्नलिखित पक्षी देखे है –

Indian Peafowl
Indian Cormorant
Little Egret
Black-shouldered Kite
Crested Serpent-Eagle
Red-wattled Lapwing
Rock Pigeon
Eurasian Collared-Dove
Spotted Dove
Laughing Dove
Indian Scops-Owl
Indian Gray Hornbill
Common Kingfisher
White-throated Kingfisher
Green Bee-eater
Coppersmith Barbet
Rose-ringed Parakeet
Small Minivet
Bay-backed Shrike
Long-tailed Shrike
Rufous Treepie
Red-vented Bulbul
Ashy Prinia
Plain Prinia
Jungle Babbler
Indian Robin
Oriental Magpie-Robin
Siberian Stonechat
Scaly-breasted Munia
Indian Silverbill
Eagle Owl

उज्जैन.कॉम  के लिए यह जानकारी श्री अर्पित पुराणिक ने जुटाई है |

उज्जैन के अर्पित वर्तमान में ASM (Area Sales Manager) के पद पर TTK Prestige कंपनी में कार्यरत है| अर्पित शौकिया छाया-चित्रकार हैं और  जैव विविधता में रूचि रखते है |

आप अर्पित से उनकी फेसबुक प्रोफाइल पर जुड़ सकते है