Posts in category इतिहास


इतिहासताज़ा चिठ्ठेमंदिरमहाकालेश्वरशहर

श्री महाकालेश्वर मंदिर

आकाशे तारकं लिंगं पाताले हाटकेश्वरम् । भूलोके च महाकालो लिंड्गत्रय नमोस्तु ते ॥ अर्थात आकाश में तारक लिंग, पाताल में हाटकेश्वर लिंग तथा पृथ्वी पर महाकालेश्वर …

Read more 0 Comments
इतिहासदर्शनीय स्थलमुखपृष्ठशहर

वीर दुर्गादास की छतरी | Veer Durgadas Ki Chhatri

वीर दुर्गादास की छतरी, मंदिरों उज्जैन के शहर में स्थित एक विशिष्ट स्मारक है। यह स्मारक छतरी के रूप में वीर दुर्गादास की याद में बनवाया …

Read more 0 Comments
इतिहासनौ रत्नमुखपृष्ठ

देवताओं के ऋषि : सांदीपनि

सांदीपनि परम तेजस्वी तथा सिद्ध ऋषि थे, सांदीपनि, का अर्थ ‘देवताओं के ऋषि’  होता है | उज्जैन ऋषि सांदीपनि की तप स्थली रही | यहां महर्षि ने …

Read more 0 Comments
इतिहासतंत्र - मन्त्रमहाकालेश्वरमुखपृष्ठ

पं. राजशेखर व्यास द्वारा निर्देशित वृत्तचित्र ‘काल’

उज्जैन पर आधारित पंडित राजशेखर व्यास द्वारा निर्देशित डॉक्युमेंट्री फिल्म ‘काल’ | 3GP फॉर्मेट में ताकि आप इसे मोबाइल पर भी डाउनलोड कर देखें और …

Read more 0 Comments
इतिहासतंत्र - मन्त्रमुखपृष्ठ

भारत का प्राचीन भू-गर्भ जल विज्ञान : बृहत्संहिता – वराहमिहिर

सुप्रसिद्ध ज्योतिर्विद वराहमिहिर की बृहत्संहिता में एक उदकार्गल (जल की रुकावट) नामक अध्याय है। 125 श्लोकों के इस अध्याय में भूगर्भस्थ जल की विभिन्न स्थितियाँ …

Read more 0 Comments
इतिहासतंत्र - मन्त्रमुखपृष्ठसिंहस्थ २०१६

विक्रमादित्य के नौ रत्न – वराहमिहिर

वराहमिहिर (वरःमिहिर) ईसा की पाँचवीं-छठी शताब्दी के भारतीय गणितज्ञ एवं खगोलज्ञ थे। उज्जैन के समीप कापित्थक अथवा ‘कपिथा (वर्तमान में कायथा) में उनके द्वारा विकसित …

Read more 0 Comments
इतिहासमुखपृष्ठ

जानिये! आखिर कैसे पड़ा इस शहर का नाम उज्जैन ?

उज्जयिनी का शाब्दिक अर्थ है विजेता या जयनगरी। कहा जाता है कि प्राचीनकाल में त्रिपुर नामक दानव ने ब्रह्मा से वरदान प्राप्त कर देवताओं को …

Read more 0 Comments
इतिहासमुखपृष्ठसिंहस्थ २०१६

विक्रमादित्य के नौ रत्न

विक्रमार्कस्य आस्थाने नवरत्नानि धन्वन्तरिः क्षपणको मरसिंह शंकू वेताळभट्ट घट कर्पर कालिदासाः। ख्यातो वराह मिहिरो नृपते स्सभायां रत्नानि वै वररुचि र्नव विक्रमस्य।। उज्जयिनी के गौरवशाली विक्रमादित्य …

Read more 0 Comments